slideshow 1 slideshow 2 slideshow 3

अनुसंधान और प्रशिक्षण में सहयोग के लिए रास्ते तलाशने के लिए पांच सदस्यीय ऑस्ट्रेलियाई प्रतिनिधिमंडल आज सी.एस.आई.ओ.-आई.एस.टी.सी. का दौरा किया। तस्वीरें और विवरण के लिए यहां क्लिक करें|

1967 आई.एस.टी.सी. बैच का स्वर्ण जयंती रीयूनियन 6 नवंबर, 2017 को केंद्र में मनाया गया। अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें।

आई.एस.टी.सी. ने 24 अक्टूबर, 2017 को पंजाब कौशल विकास मिशन (पी.एस.डी.एम.) के साथ समझौता ज्ञापन में प्रवेश किया। आई.एस.टी.सी. पंजाब के युवाओं के लिए भारत सरकार के प्रधान मंत्री कौशल विकास योजना (पी.एम.के.वी.वाई.) के तहत तैयार किए गए कौशल उन्मुख पाठ्यक्रम प्रदान करेगा, जो कि पी.एस.डी.एम. के वित्तीय समर्थन से है। अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें।

नासा रोवर चैलेंज एशिया कप 2017 में पहला स्थान "इस्को वॉन पुट्टकैमर इंडिया कप 2017" में संयुक्त रूप से दो आई.एस.टी.सी. टीमों ने जीता है। मैसर्स टेक मंत्र लैब्स - ग्लोबल (इंडिया) के साथ मिलकर अमिटी यूनिवर्सिटी नोएडा में आयोजित 12-13 अक्टूबर 2017 को आयोजित यह नासा रोवर चैलेंज, संयुक्त राज्य अमेरिका के लिए एक प्री-रोवर चैलेंज था। छात्रों ने एक मैकेनिकल रोवर / चंद्रमा के लिए छोटी गाड़ी बनायी और एक चांद्र की सतह का अनुकरण करने वाले ट्रैक पर बुग्गञ का प्रदर्शन किया|

आई.एस.टी.सी. द्वारा आयोजित दूसरे रक्तदान शिविर के दौरान 95 से ज्यादा छात्रों और संकाय ने रक्तदान किया। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया सेक्टर 30 की शाखा द्वारा प्रायोजित और स्नातकोत्तर मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च (पी.जी.आई.एम.ई.आर.) चंडीगढ़ द्वारा संचालित।

आई.एस.टी.सी. के पूर्व छात्र श्री राजन शर्मा और जापान के क्यूवा कंपनी लिमिटेड के प्रबंध निदेशक श्री शगारा नूजावा ने गुरुवार को सीएसआईआर-सी.एस.आई.ओ. और आई.एस.टी.सी. का दौरा किया। श्री नोजावा ने सूचित किया कि वह आई.एस.टी.सी. के छात्रों की ताकत के बारे में जानते थे और क्यूवा को लिमिटेड के कर्मचारियों के एक बड़े प्रतिशत आई.एस.टी.सी. से थे। उन्होंने कहा, "हर साल कंपनी आई.एस.टी.सी. से दो से चार छात्रों की भर्ती करती है"| अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें।

रैगिंग के खतरे को रोकने पर एआईसीटीई से सूचना देखने के लिए कृपया यहां क्लिक करें। याद रखें, रैगिंग एक आपराधिक आरोप है|

सी.ए.डी. / सी.ए.एम. (कैड / कैम) (20 सीट) और मेक्ट्रोनिक्स (20 सीट) में सी.एस.आई.आर. एकीकृत कौशल पहल के तहत सी.एस.आई.आर.-सी.एस.आई.ओ. के एक वर्षीया डिप्लोमा पाठ्यक्रम घोषित किया जाता है। ये पाठ्यक्रम सी.एस.आई.आर. एकीकृत कौशल पहल का हिस्सा हैं। पाठ्यक्रम आई.एस.टी.सी. पर आयोजित किया जाएगा। Http://career.csio.res.in/pgdiploma2017/ पर अधिक जानकारी पाएं|

26 और 27 जुलाई 2017 को सफल उम्मीदवारों के प्रथम परामर्श के लिए आई.एस.टी.सी. द्वारा आवश्यक दस्तावेजों की सूची पत्र द्वारा भेजी गयी है| अधिक जानकारी के लिए यहां दबाएं: Http://career.csio.res.in/ISTC

9-7-2017 को आयोजित आईएसटीसी प्रवेश परीक्षा के परिणाम उसी दिन की शाम से http://career.csio.res.in/ISTC-CSIO-2017/ पर उपलब्ध हैं|

रविवार 09-7-2017 को इंडो-स्विस प्रशिक्षण केंद्र में प्रवेश के लिए प्रवेश परीक्षा आयोजित की गई। लगभग 1,449 छात्रों ने प्रवेश के लिए आवेदन किया था और कुल 140 सीटों के लिए प्रवेश परीक्षा में 1,231 छात्र उपस्थित थे, जैसा कि प्रधानाचार्य नरिंदर सिंह जस्सल द्वारा बताया गया।

इंडो-स्विस प्रशिक्षण केंद्र (ISTC) का 52वीं दीक्षांत समारोह 30 जून, 2017 को आयोजित किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में भारत के रक्षा मंत्रालय, भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड के महाप्रबंधक पी.के. चंगोईवाला मुख्य अतिथि थे। विवरण के लिए यहां दबाएं|

29 जून, 2017 को आईएसटीसी ओल्ड स्टूडंस एसोसिएशन ने अग्रदूत में छात्रों के लिए एक सलाह, सत्र आयोजित किया। इसके बाद 20-24 मार्च, 2017 को आई.एस.टी.सी. स्पोर्ट्स वीक का पुरस्कार वितरण समारोह आयोजित किया गया। इस समारोह में मुख्य अतिथि प्रोफेसर नीना सिन्हा, यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज, (जी.जी.एस. इंद्रप्रस्थ विश्वविद्यालय) उपस्थित थे ।

इस वर्ष प्लेसमेंट के लिए पात्र छात्रो में जिन्होंने प्लेसमेंट के लिए आवेदन किया था उसमे से अस्सी प्रतिशत छात्र विभिन्न कंपनियों जैसे HLS, Asia Ltd, SML, Fanuc, Titan में प्लेस हो चुके है|उनका अधिकतम वेतन पैकेज ₹६ लाख प्रस्तावित है और औशत पैकेज ₹३ लाख का है ।


आई.एस.टी.सी. प्रवेश -2017 के लिए ऑनलाइन जमा करने की आखिरी तिथि को 09/06/2017 (5.30 बजे तक) तक बढ़ा दिया गया है: 2017 अगस्त से शुरू होने वाले सत्र के लिए प्रवेश पर हैं ... ऑनलाइन आवेदन करने के लिए यहां क्लिक करें

आई.एस.टी.सी. छात्रों ने रक्तदान शिविर में रक्तदान दान किया जो 31-5-2017 को आई.एस.टी.सी. में आयोजित किया गया । यह शिविर पी.जी.आई.एम.ई.आर., चंडीगढ़ द्वारा आयोजित किया गया था और स्टेट बैंक ऑफ इंडिया द्वारा प्रायोजित किया गया था। तस्वीरों के लिए यहां क्लिक करें ...

इंडो-स्विस प्रशिक्षण केन्द्र 6-8 अप्रैल, 2017 तक सदोपुर में महर्षि बाज़ारेश्वर विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित परियोजना प्रदर्शनी में 1 पुरस्कार प्रदान करता है। गौरव बावेजा और धीरज कुमार को "आई.ओ.टी. आधारित होम ऑटोमेशन सिस्टम" पर प्रोटोटाइप के लिए सम्मानित किया गया, उपेंद्र कुमार और डॉ। जितेंद्र विरमानी के मार्गदर्शन में |

1 अप्रैल 2017 को चंडीगढ़ विश्वविद्यालय के एस.एंड.टी फेस्टिवल टेकइनवेंट -0177 में 'आई.ओ.टी. पादरी' में पहली और दूसरे स्थान पर बैठीं। गौरव बावेजा, धीरज कुमार, पुलकिट और अमित चंदर ने आई.ओ.टी. आधारित होम ऑटोमेशन सिस्टम" पुनीत पॉल, अंकित लखानी, हर्षित धिमन और राजकुमार कुमार दिग्गी मीटर पर अपने प्रवेश के लिए दूसरे स्थान पर थे। दोनों टीमों के लिए बधाई|